Fri. Jun 14th, 2024

भारतीय जनता पार्टी को दूसरा बड़ा झटका लगा है। श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद के बाद वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी बुधवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। दारा सिंह चौहान उप्र मंत्रिपरिषद से इस्तीफा देने वाले दूसरे मंत्री हैं। मंगलवार को मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा दिया था।

मधुबन विधानसभा से विधायक हैं दारा सिंह

दारा सिंह मऊ जिले की मधुबन विधानसभा सीट से विधायक हैं। उन्होंने राज्यपाल को भेजी चिट्ठी में योगी सरकार पर दलितों, पिछड़ों और युवाओं की अनदेखी का आरोप लगाया है।

दारा सिह ने योगी सरकार पर लगाया दलितों ,पिछड़ों की अनदेखी का आरोप

दारा सिंह चौहान ने कहा – सरकार में दलितों, पिछड़ों, वंचितों को इंसाफ नहीं मिला, इसलिए मैं अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं। दारा सिंह चौहान ने कहा, “माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के मंत्रिमंडल में वन पर्यावरण और जन्तु उद्यान मंत्री के रूप में मैंने पूरे मनोयोग से अपने विभाग की बेहतरी के लिए कार्य किया, किन्तु सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के साथ-साथ पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है, उससे आहत होकर मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं।”

स्वामी प्रसाद के इस्तीफे के बाद कई विधायक और मंत्री के इस्तीफे की चर्चा

गौरतलब है कि स्वामी प्रसाद के इस्तीफे के बाद कई विधायक और मंत्री के इस्तीफे की चर्चा थी। वह बात सही साबित हुई। बता दें कि यूपी के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद तीन और विधायकों ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। मौर्य के इस्तीफे के बाद उनके समर्थन में तीन विधायकों ने भी भारतीय जनता पार्टी से त्यागपत्र दे दिया। सभी ने मौर्या का साथ देने का वादा किया है। स्वामी प्रसाद के साथ कानपुर में बिल्हौर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक भगवती सागर, बांदा की तिंदवारी सीट से भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति और शाहजहांपुर के तिलहर से भाजपा विधायक रोशन लाल वर्मा ने पार्टी को अपना त्यागपत्र सौंप दिया है। इन सभी का समाजवादी पार्टी में जाना तय है। बाद में रोशन लाल वर्मा ने तो सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ वाली फोटो ट्वीट की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *