Fri. Sep 29th, 2023

योगी आदित्यनाथ 25 मार्च को दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। योगी का पहला कार्यकाल कई उपलब्धियों के लिये जाना जायेगा। योगी सरकार के पिछले पांच वर्षों में विकास अनेक कीर्तिमान स्थापित हुए हैं। पांच वर्ष पहले तक उत्तर प्रदेश की राजनीति सपा और बसपा में सिमटी थी। एक पार्टी से मतदाता नाराज हुए तो दूसरी पार्टी को ले आये। उससे नाराज हुए तो फिर बदलाव कर दिया। सरकारें बदलती थीं लेकिन व्यवस्था में बदलाव नहीं होता था। जन आकांक्षाएं अधूरी ही रह जाती थीं।

आज से पांच वर्ष पहले मतदाताओं ने विकल्प के रूप में भाजपा को मौका दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जानते थे कि केवल सरकार का बदलना पर्याप्त नहीं है। इसलिए उन्होंने सबसे पहले व्यवस्था में बदलाव व सुधार किया। निवेश व विकास के अनुकूल माहौल बनाया गया। इसके सकारात्मक परिणाम मिलने लगे हैं। आइये जानते हैं योगी आदित्यनाथ की प्रमुख उपलब्धियों के बारे में।

Yogi Adityanath | UP CM Yogi Adityanath

सुशासन का मॉडल

सीएम योगी ने प्रदेश के सबसे बड़े मुद्दे अपराध पर अंकुश लगाने का काम किया है। यूपी सरकार की अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति का परिणाम रहा है कि प्रदेश में डकैती, लूट, हत्या, बलवा और बलात्कार की घटनाओं में कमी आई है। प्रदेश में 59 नए थाने, 29 नई चौकियां, 04 नए महिला थाने, आर्थिक अपराध शाखा के 04 नए थाने, विजिलेंस के 10 नए थाने, साइबर क्राइम के 16 नए थाने व अग्निशमन के 59 नए केन्द्रों की स्थापना की गई।

योगी सरकार ने दिया निवेश को प्रोत्साहन

योगी सरकार के पिछले पांच वर्षों के दौरान अच्छा निवेश हुआ है। मोबाइल डिस्प्ले बनाने वाली कंपनी चीन से भारत आ गई है। निवेश भारत में आ रहा है। पहले भारत से निवेश बाहर जाता था। निवेश के लिहाज से उत्तर प्रदेश प्रमुख पसंद है। शानदार सड़कों की कनेक्टिविटी और सुरक्षा की गारंटी से सब कुछ बदला है। पहले कहा जाता था कि जहां सड़क में गड्ढे शुरू हों, वही यूपी है, लेकिन आज यूपी की पहचान एक्सप्रेस वे और फोरलेन सड़कों के संजाल से होती है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से 60 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन इसी महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से 60 लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। साढ़े चार वर्षों में साढ़े चार लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। इतनी पारदर्शिता से सब कुछ हुआ है कि कोई उंगली नहीं उठा सकता।

प्रति व्यक्ति आय दोगुनी

2017 में योगी आदित्यनाथ ने राज्य की कमान संभाली। उससे पहले राज्य का बजट 2 लाख करोड़ हुआ करता था जो इस बार साढ़े पांच लाख करोड़ रहा। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस ने राज्य की रैंकिंग पिछले चार सालों में 12 रैंक ऊपर आना भी योगी सरकार के कार्यकाल की बड़ी उपलब्धि है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि राज्य में प्रति व्यक्ति आय चार वर्षों में दोगुनी हुई है। प्रति व्यक्ति आय 2015-16 में 47,116 रुपये थी जो बढ़कर अब प्रति व्यक्ति 94,495 रुपये है।

लाखों युवाओं को रोजगार

योगी आदित्यनाथ सरकार ने युवाओं के रोजगार के लिए बहुत काम किया है। 4 लाख से ज्यादा युवाओं को नौकरी उनके कार्यकाल में दी गई है। राज्य में निवेश के चलते रोजगार के अवसर बढ़े हैं और 35 लाख युवाओं को इससे नौकरी मिली है। एमएसएमपी के तहत 1.80 करोड़ लोगों को रोजगार दिया गया। 2017 में जहां राज्य में बेरोजगारी दर 17 प्रतिशत हुआ करती थी वह अब घटकर 4.1 प्रतिशत रह गई है। यही नहीं गरीबों और कमजोर तबकों के लिए भी उनकी सरकार ने खूब काम किया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के मामले में यूपी नंबर वन है।

अपराधियों और दंगाइयों पर लगाम

पिछले पांच साल में योगी आदित्यनाथ की बड़ी उपलब्धि राज्य में अपराधियों और दंगाइयों पर लगाम लगाना है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद ही कहा है कि उनके पांच साल के कार्यकाल में राज्य में एक भी दंगा नहीं हुआ है। जबकि 2017 से पहले अखिलेश सरकार के शासन काल में मुजफ्फरनगर में बड़ा दंगा हुआ था जिसके चलते बड़ी संख्या में लोग वहां से भागकर दूसरे क्षेत्रों में पलायन करने को मजबूर हुए थे। इसके साथ ही मथुरा और प्रतापगढ़ में दंगे हुए थे। योगी आदित्यनाथ ने एक और दावा करते हुए कहा कि उनके कार्यकाल में अपहरण पर लगाम लग गई है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि आपसी रंजिश को अगर हटा दिया जाय तो संगठित अपराध अब तक के सबसे निचले स्तर पर है।

1.38 करोड़ घरों को मुफ्त बिजली कनेक्शन

योगी सरकार ने 1.38 करोड़ घरों में मुफ्त बिजली कनेक्शन दिए हैं। प्रदेश में 30 नए मेडिकल कॉलेजों का निर्माण हुआ है। जन आरोग्य योजना में 6.47 करोड़ लोगों का बीमा किया गया है। राज्य में 1.47 करोड़ घरों को मुफ्त गैस कनेक्शन की सौगात पहुंचाई गई है। राज्य में शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के कार्यक्रम के तहत 1.35 लाख सरकारी स्कूलों का कायाकल्प किया गया है।

दो करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाए

मुख्यमंत्री ने बताया कि, राज्य में दो करोड़ 64 लाख शौचालय बनाकर देश में प्रथम स्था न हासिल किया है। किसानों, पुलिस सुधार, सिंचाई परियोजना, महिलाओं के कल्याण के लिए चलाई जाने वाली योजना, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री अभ्युददय योजना समेत कई बिंदुओं पर सिलसिलेवार चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “हमारी सरकार ने पुलिस सुधार के लिए अच्छाओ काम किया। हमने पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लखनऊ और नोएडा में लागू किया।

खाद्यान्न वितरण में भी आगे

योगी सरकार ने पिछले पांच साल के दौरान खाद्यान्न वितरण में उत्तर प्रदेश आगे रहा । 40 लाख राशन कार्डों में गड़बड़ी का मामला सुलझाया। सारी व्यवस्था दुरुस्त कराई गई। अब 80 हजार राशन की दुकानों पर ई-पाज मशीनें लगाई गई हैं। कोरोना की पहली लहर के बाद खाद्यान्न वितरण की जांच करने भारत सरकार की टीम आई थी। एक भी शिकायत नहीं मिली है। यूपी ऐसा अकेला राज्य है जहां राशन वितरण व्यवस्था को लेकर 97 प्रतिशत लोगों ने संतुष्टि जताई है।

Yogi Adityanath Achivements | कुछ अन्य उपलब्धियां

  • इंसेफेलाइटिस के आंकड़ों में 65 फीसदी कमी।
  • कृषि विश्वविद्यालय और कृषि विज्ञान केंद्रों को किसानों के साथ जोड़ने की पहल।
  • 73 हजार करोड़ गन्ना मूल्य का भुगतान करने के साथ ही बंद पड़ी चीनी मिल शुरू।
  • 14 और नए मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा गया।
  • सभी जनपदों में गोवंश संरक्षण केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़ की स्वीकृति।
  • ढाई साल में 50 लाख से अधिक बच्चे स्कूल पहुंचे।
    90 हजार स्कूलों को कायाकल्प से बदला गया। 193 नए इंटर कॉलेज, 51 नए डिग्री कॉलेज और 2 नए विश्वविद्यालय बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई है।
  • 2 लाख करोड़ से अधिक का निवेश हुआ है। इससे 20 लाख से ज्यादा रोजगार के रास्ते खुले हैं। 2.25 लाख से अधिक सरकारी नौकरी दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *