Mon. May 20th, 2024

शरारा और गरारा फैशन की दुनिया में दो ऐसे नाम हैं जिन्हें हर कोई जानता है। लेकिन लोग अक्सर इन दोनों में फर्क नहीं समझ पाते हैं। हालांकि ये दोनों एक ही तरह के बॉटम वियर हैं, जिन्हें महिलाएं कुर्ती के नीचे पहनती हैं। अक्सर देखा जाय तो ये दोनों कई तरह से एक दूसरे से मिलते हैं। यही कारण है कि लोगों में इन दोनों के बीच अंतर को लेकर काफी जिज्ञासा रहती है। तो चलिए आज हम आपकी जिज्ञासा को शांत करते हुए इन दोनों के बीच का अंतर स्पष्ट करते हैं।

शरारा

शरारा एक पारंपरिक शादी या फिर पार्टी का पहनावा है। ये मुगलों के दौर में पहने जाने वाला पहनावा है जिसे प्राचीनअवध यानी आज के लखनऊ में पहना जाता है। शरारा बिल्कुल लहंगे की तरह दिखता है, बस ये लहंगे से ज़्यादा घेरदार और लंबा होता है। साथ ही ये ‘ए’ शेप का होता है। इसमें नीचे की तरफ खूबसूरत गिरावट के साथ लेस, गोटा या स्टोन की कारीगरी की जाती है। इसे खासतौर पर लम्बी या छोटी कुर्ती के साथ पहना जाता है।

यह पारंपरिक पोषाक बहुत खूबसूरत लगती है और आजकल दोबारा फैशन में आ गई है और खासकर युवाओं को काफी पसंद भी आ रहा है। एक वक्त था जब बॉलीवुड में शरारा आम पहनावा हुआ करता था, खासकर 1960 के दशक में, जब मीना कुमारी, साधना और नंदा जैसी अदाकाराओं ने इस पहनावे को खूब पहना है।

गरारा

गरारा घेरदार पैन्ट्स की तरह होता है। ये एक नबाबी पोषक मानी जाती है, जिसे नवाबों के दौर में महिलाएं पहना करती थीं। ये ढीली मोहरी का पैजामा होता है, जो चौड़ें पैरों वाली पैंट की जोड़ीदार मानी जाती है। इसके घुटने के क्षेत्र में जिसे उर्दू में गोटा के नाम से जाना जाता है, पर अक्सर जरी-जरदोजी की कशीदाकारी की जाती है।

इसे बनाने के लिए लगभग 11 से 12 मीटर कपड़े का इस्तेमाल किया जाता है। पुराने समय में गरारा बनाने के लिए रेशम के कपड़े का इस्तेमाल किया जाता था। गरारा भी लखनऊ का पारंपरिक परिधान माना जाता है। इसे अधिकतर मुस्लिम महिलाएं पहना करती थीं। इसके पर छोटी या लंबी लेंथ की कुर्ती पहनी जाती है।


इसमें भी शरारा की तरह जरी, सीक्वेन, पत्थर, गोटे और बीड्स का काम होता है। अगर आपकी लंबाई कम है तो आप इसके साथ लंबी कुर्ती पहन सकती हैं। इन दोनों खूबसूरत पहनावे के बीच के अंतर को समझने के लिए सिर्फ इतना याद रखें कि शरारा स्कर्ट नुमा होता है जो कमर से फिट होते हैं और नीचे से काफी घेरदार। जबकि गरारा घुटनों तक फिटिंग का होता है और उसके नीचे घेरदार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *