Sat. May 18th, 2024

Yogi Adityanath | Yogi Adityanath News

देश के सबसे बड़े सूबे के लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री की कमान संभालने वाले योगी आदित्यनाथ की कहानी दिलचस्प है। उत्तराखंड के पौड़ी जिले के छोटे से गांव पंचूर के राजपूत परिवार में जन्मे अजय सिंह बिष्ट (Ajay Singh Bisht) ने मात्र 22 साल की उम्र में ही सांसारिक मोह माया त्याग कर संन्यासी का जीवन धारण कर लिया और अजय सिंह बिष्ट से नाम बदलकर योगी आदित्यनाथ कर लिया। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। गोरखपुर के गोरक्षपीठ के पीठाधीश्वर से यात्रा शुरू हुई। हिंदू युवा वाहिनी बनाई, संसद पहुंचे और आज देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश की लगातार दूसरी कमान संभालने वाले पहले मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं।

Yogi Adityanath Age (49 Years) | उत्तराखंड के पौड़ी जिले में हुआ जन्म

योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को पौड़ी जिले पंचूर गांव में हुआ। गांव के ही स्थानीय सरकारी स्कूल में शुरुआती पढ़ाई-लिखाई हुई। उसके बाद कोटद्वार के गढ़वाल यूनिवर्सिटी से गणित में बीएससी की परीक्षा पास की, इसी दौरान अखिल भारतीय विद्याथी परिषद से जुड़े।

पढ़ाई के दौरान ही छोड़ दिया था घर

वर्ष 1993 में गणित में एमएससी की पढ़ाई के दौरान योगी आदित्यनाथ गुरु गोरखनाथ पर रिसर्च करने गोरखपुर आए। यहां गोरक्षनाथ पीठ के महंत अवैद्यनाथ की नजर उन पर पड़ी। योगी आदित्यनाथ की बुद्धिमत्ता महंत अवैद्यनाथ को बहुत पसंद आई और फिर उन्हें अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया।
अगले ही साल यानी वर्ष 1994 में वह सांसारिक मोहमाया त्यागकर पूर्ण संन्यासी बन गए। इसके बाद अजय सिंह बिष्ट से अपना नाम बदलकर योगी आदित्यानाथ रख लिया। बस यहीं से योगी आदित्यनाथ के राजनीतिक जीवन की शुरुआत होती है।

मात्र 26 साल की उम्र में बन गये थे लोकसभा सांसद

वर्ष 1998 में महज 26 साल की उम्र में योगी आदित्यनाथ ने भाजपा के टिकट पर गोरखपुर चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। अगले साल 1999 में वो फिर चुनावी दंगल में उतरे और जनता ने भारी मतों से उन्हें लोकसभा में पहुंचाया।

गोरखपुर में स्थापित किया हिंदू युवा वाहिनी नाम का संगठन

वर्ष 1999 में दोबारा सांसद चुने जाने के बाद योगी आदित्यनाथ का कद खासकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में बढ़ता गया और धीरे-धीरे कट्टर हिंदूवादी नेता की छवि जनमानस में बनने लगी। इसी बीच वर्ष 2002 में उन्होंने ‘हिन्दू युवा वाहिनी’ नाम का संगठन बनाया। योगी आदित्यनाथ लगातार वर्ष 2004, 2009 और 2014 में गोरखपुर से सांसद रहे।

योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2004 में तीसरी बार लोकसभा का चुनाव जीता। इस बीच गोरखपुर को योगी के गढ़ के तौर पर जाने जाना लगा। वर्ष 2007 में गोरखपुर में दंगे हुए और इन दंगों में योगी आदित्यनाथ को मुख्य आरोपी बनाया गया। उनकी गिरफ्तारी हुई और इस पर देशभर में कोहराम मच गया।

योगी पर आजमगढ़ में हुआ था जानलेवा हमला

अगले ही साल यानी वर्ष 2008 में योगी आदित्यनाथ पर आजमगढ़ में जानलेवा हमला हुआ। करीब सौ लोगों की हिंसक भीड़ ने उन्हें घेर लिया था और वे किसी तरह वहां से बचकर निकले। उनके उपर हमले को लेकर हिंदू युवा वाहिनी ने प्रदेश में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किया।

दो लाख से अधिक मतों से जीतने का बनाया रिकार्ड

अगले साल (वर्ष 2009) में एक बार फिर उन्होंने लोकसभा चुनावों में जीत दर्ज की। इस बार उनकी जीत का अंतर 2 लाख से ज्यादा वोट का था। वर्ष 2014 में वे पांचवीं बार सांसद चुने गए और इस बार भी जीत का अंतर दो लाख से ज्यादा का था। पांचवीं बार लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में योगी आदित्यनाथ का कद बहुत बढ़ गया।

2017 में भाजपा ने योगी को सौंपी उत्तर प्रदेश की सत्ता

2017 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए। चुनाव में लंबे अंतराल के बाद भाजपा सत्ता में लौटी। हालांकि चुनाव से पहले सीएम पद के लिए योगी के नाम की चर्चा तक नहीं थी, लेकिन अचानक पार्टी ने उनका नाम प्रस्तावित किया। जिसके पीछे उनकी हिंदुत्ववादी छवि और कद्दावर शख्सियत थी।

लगातार दूसरी बार संभालेंगे उत्तर प्रदेश की सत्ता की कमान

उत्तर प्रदेश में भाजपा ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज करने का तीन दशक से अधिक पुराना रिकार्ड तोड़ते हुए सत्ता में वापसी की है। इस जीत का श्रेय पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ को दिया जा रहा है। योगी की छवि पूरे प्रदेश में कठोर प्रशासक और अनुशासन के लिये जाना जाता है।

Yogi Adityanath Contact Number

Yogi Adityanath Hon’ble Chief Minister 2236181, 2289010, 2236167, 2239234 (Fax) 2235435, 2235735, 2236119 (Fax) 2236838, 2239573(Fax)

Yogi Adityanath Contact Number

Yogi Adityanath Twitter – https://twitter.com/myogiadityanath

Yogi Adityanath Facebook – https://www.facebook.com/MYogiAdityanath/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *