Tue. May 21st, 2024

मेरठ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मेरठ के सरधना में खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के शिलान्यास के बाद मोदी ने कहा कि पहले मेरठ और आस-पास के इलाकों में अपराधी ‘अवैध कब्जे’ का टूर्नामेंट खेला करते थे। अपराधियों के डर से लोग पलायन करने के लिए मजबूर थे। शाम होने के बाद बहन-बेटियां घरों से बाहर नहीं निकल पाती थीं। अपराधी कहर बरपा रहे थे और पिछली सरकारें अपने टूर्नामेंट खेलने में व्यस्त रहती थीं। योगी सरकार के आने के बाद से ये सारे अपराधी अब ‘जेल-जेल’ खेल रहे हैं। आज प्रदेश से अपराधी पलायन करने लगे हैं।

खिलाड़ियों को करना पड़ा उपेक्षा का सामना

पीएम मोदी ने कहा कि पहले कोई खुद को खिलाड़ी बताता था तो लोग पूछते थे कि खेल तो ठीक है काम क्या करते हो? ऐसा माना जाता था कि फ़ौज-पुलिस में जाने के लिए खिलाड़ी बना जाता है। लोगों में खेलों के प्रति सम्मान की कमी थी जिससे खिलाड़ियों को उपेक्षा का सामना करना पड़ा। मोदी ने कहा कि जिस हॉकी ने गुलामी के दौरान भी देश का झंडा ऊंचा रखा, उसी पर पहले की सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। दुनिया की हॉकी मैदान से टर्फ की तरफ बढ़ गयी और हम पीछे होते गए। सिर्फ हॉकी ही नहीं अन्य खेल भी भ्रष्टाचार और भाई-भतीजेवाद कि भेंट चढ़ गए थे। 2014 के बाद खिलाड़ियों को चार शस्त्र दिए गए- संसाधन, इंटरनेशनल ट्रेनिंग, विदेशों में पहचान और चयन में पारदर्शिता।

खेलों इंडिया से देश को मिलेंगे अंतराष्ट्रीय स्थर के खिलाड़ी

पीएम मोदी ने कहा कि पहले कहा जाता था कि बुजुर्गों के दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए लेकिन अब वो जमाना है कि युवा जिस रास्ते पर चल दें उसी पर दुनिया चलने लगती हैं। पीएम ने मेरठ में होने वाले कुश्ती के दंगलों का भी जिक्र किया और कहा कि इनाम में मिलने वाले घी के पीपों और लड्डुओं के लिए कौन न दंगल में उतर जाए। पीएम मोदी ने कहा कि खेलो इंडिया के माध्यम से सरकार खिलाड़ियों को संसाधन दिए जा रहे हैं और देश के कोने-कोने से टैलेंट को सामने लाया जा रहा है।

इस विश्वविद्यालय का नाम हॉकी के जादूगर के नाम से मशहूर मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखा गया है। यह विश्वविद्यालय करीब 92 एकड़ जमीन पर 700 करोड़ की लागत से बनेगा। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पीएम मोदी सड़क मार्ग से मेरठ पहुंचे। खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने से पहले प्रधानमंत्री ने मेरठ के काली पलटन मंदिर में पूजा-अर्चना की। उन्होंने मेरठ के शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धासुमन भी अर्पित किए।

मेजर ध्यानचंद का नाम रोशन करेंगे नौजवान: पीएम

पीएम मोदी ने रैली में कहा कि महाभारत-रामायण से लेकर जैन तीर्थकर और पंज प्यारों के जरिए मेरठ देश की आस्था में अहम स्थान रखता है। मेरठ ने सिन्धु घाटी सभ्यता के जरिये दिखाया है कि हमारे देश में कितना सामर्थ्य हैं। 1857 में औघड़नाथ मंदिर से आजादी की जो आवाज़ उठी उसी का नतीजा है कि आज हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि यहां आने से पहले मैं अमर जवान ज्योति गया फिर म्यूजियम गया, वहां जाकर मुझे एहसास हुआ कि कैसे स्वतंत्रता की लड़ाई में इस शहर का अहम योगदान है। उन्होने आगे कहा कि राष्ट्र की रक्षा के लिए सीमा पर बलिदान हो या फिर खेलों के जरिए देश का सम्मान बढ़ाना हो, इस क्षेत्र में हमेशा देश का नाम ऊंचा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *