Thu. Jun 20th, 2024

रायपुर: छत्तीसगढ़ में आयोजित धर्म संसद में महात्मा गांधी को लेकर अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने वाले कथित संत कालीचरण महाराज की मध्यप्रदेश के खजुराहो में गिरफ्तारी के बाद सियासी तकरार बढ़ गई है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इसे संघीय ढांचे के प्रोटोकॉल का उल्लंघन करार दिया है तो कांग्रेस ने राज्य सरकार पर तंज कसा है। पिछले दिनों छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हुई धर्म संसद में कालीचरण ने महात्मा गांधी को लेकर अपशब्द कहे थे। उसके बाद वहां उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था। छत्तीसगढ़ की पुलिस कालीचरण की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही थी और गुरुवार की सुबह उन्हें छतरपुर जिले के खजुराहो से गिरफ्तार कर लिया गया।

कालीचरण की गिरफ्तारी संघीय ढांचे के प्रोटोकॉल का उल्लंघन: नरोत्तम मिश्रा
कालीचरण की गिरफ्तारी को लेकर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने संघीय ढांचे के प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया है। छत्तीसगढ़ पुलिस को पहले नोटिस जारी करना था और मध्य प्रदेश की पुलिस को सूचित भी करना था मगर ऐसा नहीं किया गया।

डॉ मिश्रा का कहना है कि कालीचरण को पहले नोटिस दिया जा सकता था और मध्य प्रदेश की पुलिस को सूचना दी जा सकती थी, मगर ऐसा नहीं किया गया। राज्य के डीजीपी को छत्तीसगढ़ के डीजीपी से बात करने को कहा गया है।

कांग्रेस का भाजपा पर तंज, गोडसे समर्थकों के पेट में दर्द
कांग्रेस ने गृहमंत्री के बयान पर तंज कसा है। पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा गोडसे समर्थकों के पेट में दर्द हो गया है। यादव ने आगे कहा आज छत्तीसगढ़ पुलिस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपशब्द बोलने वाले कालीचरण को खजुराहो से गिरफ्तार कर लिया, इससे गोडसे समर्थकों के पेट में दर्द हो गया है, सबसे बड़ा सवाल उसे मप्र में किसने और किसके कहने पर छुपाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *