Sun. May 26th, 2024

योगी आदित्यनाथ 25 मार्च को दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। देश में जब कोरोना का प्रचंड कहर था उस दौरान योगी आदित्यनाथ के साथ एक एक दिलचस्प घटना हुई जिसका वर्णन उन्होंने स्वयं एक निजी समाचार चैनल से वार्ता में किया।

पीएम मोदी की हिदायत के बावजूद घर से बाहर निकले थे योगी

योगी आदित्यनाथ ने बताया कि जब वह सूबे में कोरोना की स्थिति का जायजा लेने के लिए दौरे कर रहे थे, तो कैसे एक महिला उन्हें अपने दरवाजे पर देखकर चौंक गई थी। योगी ने कहा कि उन्होंने अपनी कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आने के तुरंत बाद प्रदेश में अपने दौरे शुरू कर दिए थे, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशंस के खतरे को देखते हुए उन्हें आराम करने की सलाह दी थी। सीएम योगी ने कहा कि महिला ने मुझे देखा और कहा, अरे आप योगी जी हैं।

जब महिला को अपनी आंखों पर नहीं हुआ विश्वास

सीएम योगी ने घटना के बारे में बताया कि एक दौरे के दौरान मैंने मथुरा में कोविड पॉजिटिव मरीजों के घर का दरवाजा खटखटाया। मुझे बताया गया था कि उस घर में 2 कोविड पॉजिटिव लोग हैं। मेरे दरवाजा खटखटाने के बाद वे लोग गेट के पास आए और मुझे देखा। उस समय तो स्थिति ऐसी थी कि मेरे साथ बहुत तामझाम भी नहीं हो सकता था। सभी लोग बहुत दूरी पर खड़े थे। गेट परिवार की एक महिला ने खोला। उन्होंने मुझे देखा और कहा, अरे आप योगी जी हैं? मैंने कहा, हां। उन्होंने कहा कि मैं सच देख रही हूं? मैंने कहा, क्यों?’

‘उस महिला ने मुझसे पूछा कि आप यहां कैसे?’

योगी ने कहा, ‘फिर उस महिला ने मुझसे पूछा कि आप यहां कैसे? मैंने कहा कि मुझे जानकारी मिली की आप लोग यहां कोविड की चपेट में आए हैं इसलिए मैं आपका हालचाल लेने के लिए आ गया। वह तुरंत अपने घर के अंदर गईं और अपने पति को भी लेकर आईं। उन्होंने कहा, देखिए, योगी जी यहां आए हैं लेकिन इनको आना नहीं चाहिए था। मैंने कहा क्यों? उन्होंने कहा कि अरे आप रहेंगे तो पूरे प्रदेश को बचा लेंगे। हम लोगों का हाल-चाल लेने के लिए तो आपको कम से कम अभी नहीं आना चाहिए था।

महिला ने कहा इतना ध्यान तो अपने भी नहीं रखते

योगी ने कहा कि मैंने उनसे कहा कि आखिर आप भी तो प्रदेश के हैं, और प्रदेश के एक-एक व्यक्ति की चिंता करना तो हमारा दायित्व है। उन्होंने कहा कि देखिए, आप चिंता मत करिए। प्रतिदिन आपके कार्यालय से हमारे पास हालचाल लेने के लिए फोन आता है, डॉक्टर की टीम हमारा हालचाल ले रही है। जिले की टीम हमारा हालचाल ले रही है। और इतना तो किसी परिवार में भी अगर कोई व्यक्ति बीमार पड़ जाता है तो घर के लोग उसका हालचाल नहीं ले पाते जितना हमारा लिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *